Geography

भारत के बंदरगाह

भारत के बंदरगाह (Port of India)

दूसरे देशों के साथ व्यापार हेतु प्राकृतिक बंदरगाहों के साथ-साथ कुछ कृत्रिम भारत के बंदरगाह (Port of India) भी निर्मित किए गए हैं। विदेशी व्यापार जल मार्ग के साथ ही  वायु मार्ग एवं स्थल मार के द्वारा भी किया जाता है। जलमार्ग के द्वारा व्यापार हवाई मार्ग की अपेक्षा बहुत ही सस्ता पड़ता है तथा …

भारत के बंदरगाह (Port of India) Read More »

भारत की नदियाँ

भारत की नदियाँ (Bharat ki nadiya)

भारतीय उपमहाद्वीप में नदियों की सघनता है। गंगा, यमुना, ब्रह्मपुत्र, सिंधु, रावी, व्यास, चिनाब, सतलज, गोदावरी, कृष्णा आदि प्रमुख भारत की नदियाँ हैं। इन नदियों के जल क उपयोग कृषि हेतु सिंचाई, पेयजल के लिए किया जाता है। भारत की नदियाँ (Rivers of India in Hindi) भारत की नदियों को प्रवाह की दृष्टि से दो …

भारत की नदियाँ (Bharat ki nadiya) Read More »

राजस्थान के राष्ट्रीय उद्यान

राजस्थान के राष्ट्रीय उद्यान

प्रमुख राजस्थान के राष्ट्रीय उद्यान रणथंभौर  (सवाई माधोपुर), मुकुन्दरा हिल्स, घना पक्षी विहार (भरतपुर) तथा कुंभलगढ़ उद्यान हैं। राजस्थान के राष्ट्रीय उद्यान प्रमुख रूप से राज्य के पर्यटन के केंद्र है। राजस्थान के राष्ट्रीय उद्यान (Rajasthan ke Rashtreey udyaan) राजस्थान के उद्यान (सेंचुरी) जिन्हे राष्ट्रीय दर्जा प्राप्त है, निम्नानुसार हैं- 1. रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान (सवाईमाधोपुर) …

राजस्थान के राष्ट्रीय उद्यान Read More »

राजस्थान की जलवायु

राजस्थान की जलवायु (Climate of Rajasthan)

जलवायु से तात्पर्य किसी विशिष्ट प्रदेश में मौसम की औसत दशाओं की स्थिति से है। राजस्थान की जलवायु का प्रकार शुष्क, अर्द्ध शुष्क, आर्द्र, अति आर्द्र है। राजस्थान की जलवायु राजस्थान एक विशाल प्रदेश है, जिसकी जलवायु विस्तृत रूप से मानसूनी जलवायु का एक अभिन्न अंग है। मरुस्थलीय जलवायु राजस्थान के लगभग 60% भाग में …

राजस्थान की जलवायु (Climate of Rajasthan) Read More »

भारत की स्थिति और विस्तार

भारत की स्थिति और विस्तार

भारत की स्थिति और विस्तार- भारत और राज्यों के सरकारी विभागों द्वारा आयोजित सभी प्रतियोगी परीक्षाओं की दृष्टि से ‘भारत की स्थिति और विस्तार’ बहुत ही महत्वपूर्ण विषय है। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में इसमें से प्रश्न अवश्य पूछे जाते है। भारत की स्थिति और विस्तार  एशिया के दक्षिण में भारत की स्थिति 8°4′ उत्तर से 37°7′ उत्तर अक्षांश …

भारत की स्थिति और विस्तार Read More »

राजस्थान की झीलें

राजस्थान की झीलें

राजस्थान में प्राकतिक झीलों के साथ-साथ कई खूबसूरत कृत्रिम (मानव निर्मित) झीलें भी हैं। ये प्राकृतिक एवं कृत्रिम राजस्थान की झीलें अपने अनुपम सौन्दर्य के कारण देशी-विदेशी पर्यटकों का मन मोहती हैं। राजस्थान की झीलें (Lakes of Rajasthan) राज्य राजस्थान वीरता और शौर्य की भूमि के साथ-साथ अपनी चट्टानी मरुभूमि में झीलों की अपार सम्पदा …

राजस्थान की झीलें Read More »

राजस्थान की नदी घाटी परियोजनाएं

राजस्थान की नदी घाटी परियोजनाएं

राजस्थान के सरकारी विभागों द्वारा आयोजित सभी प्रतियोगी परीक्षाओं की दृष्टि से राजस्थान की नदी घाटी परियोजनाएं बहुत ही महत्वपूर्ण है। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में इसमें से प्रश्न अवश्य पूछे जाते है। राजस्थान की नदी घाटी परियोजनाएं (River Projects in Rajasthan) नदी घाटी परियोजनाएं राज्य  की पवित्र मरू-भूमि में प्रमुख रूप से पेयजल और सिंचाई के …

राजस्थान की नदी घाटी परियोजनाएं Read More »

भारत में कृषि

भारत में कृषि उत्पादन

भारत में कृषि भारत में कृषि को मानसून का जुआ कहा जाता है। भारत में कुल भौगोलिक क्षेत्रफल के 51% भाग पर कृषि की जाती है तथा यहाँ की 52% जनसंख्या कृषि कार्यों में लगी हुई है। भारत की 58% जनसंख्या अपनी जीविकापार्जन के लिए कृषि पर निर्भर है। देश के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) …

भारत में कृषि उत्पादन Read More »

भारत के द्वीप समूह

भारत के द्वीप समूह

भारत के द्वीप भारत में मुख्यतः कुल 247 द्वीप हैं, जिन्हे दो भागों में विभक्त किया गया है- 1. अरब सागर में स्थित भारत के द्वीप  मुख्यतः अरब सागर में 43 द्वीप स्थित हैं। लक्षद्वीप समूह इस समूह के द्वीपों में लक्षद्वीप, मिनीकॉय द्वीप (सबसे दक्षिणी द्वीप), ऑन्ण्ड्रेट द्वीप तथा अमिनी द्वीप मुख्य द्वीप हैं। …

भारत के द्वीप समूह Read More »

राजस्थान में सिंचाई के साधन

राजस्थान में सिंचाई के साधन

राजस्थान में सिंचाई के साधन कुँआ एवं नलकूप, तालाब तथा नहरे प्रमुख है। राज्य के कुल कृषि योग्य क्षेत्र के 30 प्रतिशत भाग में सिंचाई की सुविधा उपलब्ध है। भारत के उत्तर-पूर्व में स्थित राजस्थान एक कृषि प्रधान राज्य है, परंतु राजस्थान का अधिकतर क्षेत्र मरुस्थलीय (थार) है और वर्षा भी कम होती है। यहा …

राजस्थान में सिंचाई के साधन Read More »

Scroll to Top