भारत की नदियाँ (Rivers of India in Hindi)

गंगा, यमुना, ब्रह्मपुत्र, सिंधु, रावी, व्यास, चिनाब, सतलज, गोदावरी, कृष्णा आदि प्रमुख भारत की नदियाँ हैं।

भारत की नदियाँ

भारत की नदियों को प्रवाह की दृष्टि से दो भागों में विभाजित किया गया है-

हिमालय की नदियाँ अर्थात हिमालय नदी तंत्र तथा दक्षिण भारत की नदियाँ अर्थात प्रायद्वीपीय नदी तंत्र

हिमालय से निकलने वाली भारत की नदियाँ 

हिमालय की नदियों को तीन भागों में बाँटा गया है।

(i) सिन्धु नदी तंत्र
(ii) गंगा नदी तंत्र
(iii) ब्रह्मपुत्र नदी तंत्र

(i) सिन्धु नदी तंत्र

इस नदी तंत्र में सिंधु नदी तथा पंचनद (झेलम, चिनाब, रावी, व्यास और सतलज) नदियाँ शामिल की गई है।

उद्गम स्थान
(अ) सिन्धु नदी – मानसरोवर झील (तिब्बत)
(ब) झेलम नदी – शेषनाग झील (जम्मू-कश्मीर)
(स) चिनाब नदी – बारालाचला दर्रा (हिमाचल प्रदेश)
(द) रावी नदी – रोहतांग दर्रा (हिमाचल प्रदेश)
(य) व्यास नदी – व्यास कुंड (हिमाचल प्रदेश)
(र) सतलज नदी – राक्षसताल  झील (तिब्बत)

सिन्धु नदी

कुल लंबाई – 2880 किलोमीटर
भारत में लंबाई – 1114 किलोमीटर
  • सिन्धु नदी कैलाश पर्वत के समीप मानसरोवर झील से निकलती है तथा अरब सागर में जाकर गिरती है।
  • यह भारत में दमचोक के समीप ‘जास्कर’ श्रेणी दर्रे से प्रवेश करती है।
    सिन्धु नदी
    सिन्धु नदी
  • यह नदी लद्दाख तथा जास्कर पर्वतमालाओं के समानांतर बहती है।
  • ‘लेह’ सिंधु नदी के किनारे स्थित शहर है।
  • यह जम्मू-कश्मीर में बुंजी के समीप गहरे गर्त या महाखंड का निर्माण करती है।
  • पाकिस्तान में सिन्धु नदी जम्मू-कश्मीर के ‘चिल्लास’ नामक स्थान से प्रवेश करती है।
  • ‘पंचनद’ का संयुक्त जल भी पाकिस्तान में मिठान कोट के समीप सिन्धु नदी में मिलता है।
  • यह अंत में कराची शहर के समीप पश्चिम में अरब सागर में जाकर गिरती है।

सिन्धु नदी की सहायक नदियाँ

सिन्धु नदी की सहायक नदियों में श्योक, सिगार, हूनजा, गिलगित तथा काबुल प्रमुख हैं।

Read Also – भारत में सिंचाई के प्रमुख साधन भारत का भौगोलिक परिदृश्य | Indian Geography

पंचनद की नदियाँ 

पंचनद नदी समूह में भारत की नदियाँ झेलम, चिनाब, रावी, व्यास और सतलज शामिल हैं।

झेलम नदी

  • यह नदी जम्मू-कश्मीर में शेषनाग झील से निकलती है।
  • यह कश्मीर घाटी का निर्माण करती है।
  • झेलम नदी जम्मू-कश्मीर में ‘वुलर झील’ का निर्माण करती है।
  • यह अनंतनाग से बारामुला तक एक नौकागम्य नदी है।
  • झेलम नदी भारत-पाकिस्तान की सीमा बनाती है।
  • किशनगंगा झेलम नदी की सहायक नदी है।
  • झेलम नदी पर स्थित जल विद्युत परियोजनाएं ‘तुलबुल परियोजना’ तथा ‘उरी परियोजना’ है।

चिनाब नदी

  • हिमाचल प्रदेश में इस नदी को चंद्रभागा नदी के नाम से पुकारा जाता है।
  • सिन्धु नदी की सबसे बड़ी सहायक नदी चिनाब नदी है।
  • चिनाब नदी पर J&K में दुलहस्ती, सलल तथा बगलीहार परियोजनाएं स्थित है।

रावी नदी

  • यह नदी हिमाचल प्रदेश में स्थित रोहतांग दर्रे से निकलती है।
  • इसकी सहायक नदी ‘तवी नदी’ है।
  • रावी नदी के किनारे स्थित शहर पाकिस्तान का ‘लाहोर’ शहर है।
  • इस नदी पर हिमाचल प्रदेश में ‘धामेरा बाँध’ तथा जम्मू-कश्मीर में ‘धीन बाँध’ (जिसे महाराजा रणजीतसिंह बाँध के नाम से भी जाना जाता है) बनाया गया है।

व्यास नदी

व्यास नदी हिमाचल में स्थित ‘व्यास कुंड’ से निकलती है। इस नदी पर H.P में पार्वती परियोजना के तहत पोंग बाँध तथा पडोह बाँध का निर्माण किया गया है। व्यास नदी पंजाब के ‘हरिके’ स्थान पर सतलज नदी में मिलती है।

सतलज नदी

सतलज नदी तिब्बत में स्थित कैलाश पर्वत के समीप राक्षसताल झील से निकलती है। सतलज नदी भारत में शिपकला दर्रे से प्रवेश करती है। यह नदी हिमाचल प्रदेश (HP) में गोविंद सागर झील का निर्माण करती है। सतलज नदी पर स्थित परियोजनाएं निम्नलिखित है-

(i) नाथपा झाकड़ी परियोजना – हिमाचल प्रदेश
(ii) भाखड़ा परियोजना (भाखड़ा बाँध) – हिमाचल प्रदेश
(iii) नांगल परियोजना (नांगल बाँध) – पंजाब

गंगा नदी तंत्र

  • गंगा नदी तंत्र भारत का सबसे बड़ा नदी तंत्र है। गंगा नदी भारत में प्रवाह की दृष्टि से सबसे लंबी तथा सबसे बड़ी नदी है। गंगा नदी का उद्गम स्थान हिमालय में गंगोत्री हिमनद का गौमुख है।
    गंगा नदी
    गंगा नदी
  • देवप्रयाग नामक स्थान पर भागीरथी नदी से अलकनंदा नदी सम्मिलित होती है, यह गंगा नदी कहलाती है। यह नदी हरिद्वार से मैदानी भाग में प्रवेश करती है।
  • पश्चिम बंगाल में जाकर गंगा नदी 2 भागों में विभक्त होती है, जिसे पश्चिम बंगाल में हुगली नदी तथा बांग्लादेश में ‘पद्मा’ कहा जाता है।
  • असम में गंगा (पद्मा) से ब्रह्मपुत्र नदी आकर मिलती है और विश्व के सबसे बड़े नदी डेल्टा ‘सुंदरवन डेल्टा’ का निर्माण करती हैं।
  • गंगा नदी भारत के 5 राज्यों उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश, बिहार, झारखंड तथा पश्चिम बंगाल से होकर बहती है।

गंगा नदी के किनारे स्थित शहर

गंगा नदी के किनारे स्थित शहर
गंगा नदी के किनारे स्थित शहर

उत्तराखंड – ऋषिकेश, हरिद्वार

उत्तरप्रदेश – कन्नोज, कानपुर, इलाहाबाद, बनारस
बिहार – बक्सर, पटना, भागलपुर
पश्चिम बंगाल – मुर्शिदाबाद
हुगली के किनारे स्थित शहर कोलकाता है। पद्मा के किनारे स्थित शहर ढ़ाका है।

गंगा नदी की सहायक नदियां

भारत की नदियाँ जो बांए तट से आकर गंगा नदी में मिलती है-

(i) रामगंगा नदी

गंगा नदी की सहायक नदियाँ
गंगा नदी की सहायक नदियाँ

 यह उत्तराखंड में नैनीताल से निकलती है तथा उत्तरप्रदेश में कन्नोज स्थान पर गंगा में सम्मिलित हो जाती है। मुरादाबाद, बरेली तथा बदायूं इसके किनारे स्थित शहर है।

(ii) गोमती नदी

यह उत्तरप्रदेश के पीलीभीत जिले में कुल्हर झील से निकलती है तथा गाजीपुर में गंगा से मिल जाती है। इसके किनारे स्थित शहर लखनऊ, सुल्तानपुर, जौनपुर तथा सिराज-ए-हिन्द हैं।

(iii) घाघरा नदी

यह तिब्बत में आपचाचुँग हिमनद से निकलती है तथा बिहार के छपरा में गंगा से मिल जाती है। इसकी सहायक नदियाँ काली नदी, सरयू नदी तथा राप्ती नदी हैं। अयोध्या सरयू नदी तथा गौरखपुर राप्ती नदी के किनारे बसे हैं।

(iv) गण्डक नदी

इसको नारायणी नदी के नाम से भी जाना जाता है। यह नदी नेपाल से निकलकर बिहार में सोनपुर स्थान पर गंगा में सम्मिलित हो जाती है।

(v) कोसी नदी

कोसी नदी को बिहार का शोक भी कहा जाता है। यह सप्तधारा नदी है। कोसी नदी नेपाल में गौसाईधाम से निकलकर बिहार में कुरुसेला स्थान पर गंगा में मिलती है।

(vi) महानंदा नदी

यह नदी दार्जिलिंग से निकलकर पश्चिम बंगाल के फरक्का स्थान पर गंगा में समा जाती है।

भारत की नदियाँ जो दांए तट से आकर गंगा में मिलती हैं-

(i) यमुना नदी

  • यमुना नदी गंगा नदी की सबसे बड़ी सहायक नदी है।
    यमुना नदी
    यमुना नदी
  • यह नदी उत्तराखंड में बन्दरपूछ चोटी पर स्थित यमुनोत्री हिमनद से निकलती है।
  • यमुना नदी उत्तराखंड, हरियाणा, दिल्ली तथा उत्तरप्रदेश राज्यों में बहती है।
  • यमुना नदी के किनारे स्थित शहर कुरुक्षेत्र, दिल्ली, मथुरा तथा आगरा है।
  • चम्बल नदी यमुना नदी की सबसे बड़ी सहायक नदी है जो MP में जनापाव की पहाड़ियों से निकलती है।
  • चम्बल नदी तीन राज्यों मध्यप्रदेश, राजस्थान तथा उत्तरप्रदेश में बहती है तथा उत्तरप्रदेश में यमुना नदी में मिलती है।

(ii) सोन नदी

सोन नदी मध्यप्रदेश में अमरकंटक की पहाड़ियों से निकलती है। यह नदी मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश से बहते हुए बिहार में दानापुर नामक स्थान पर गंगा में मिलती है। बाणसागर परियोजना सोन नदी पर बनाई गई है। यह बाण सागर परियोजना मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश तथा बिहार की संयुक्त परियोजना है।

रिहन्द बाँध– रिहन्द बाँध सोन नदी की सहायक नदी रिहन्द पर बना हुआ है। रिहन्द बाँध के पीछे गोविंद वल्लभ पंत सागर झील है जो भारत की सबसे बड़ी मानव निर्मित झील है।

ब्रह्मपुत्र नदी

ब्रह्मपुत्र नदी तिब्बत में कैलाश पर्वत के समीप चेमांग यूम डुंग हिमनद से निकलती है। ब्रह्मपुत्र नदी विश्व की सबसे बड़ी नदियों में से एक है। इसकी भारत में लंबाई 916 किलोमीटर तथा कुल लंबाई 2900 किलोमीटर है।

विश्व की सबसे बड़ी नौकागम्य नदी ‘ब्रह्मपुत्र नदी’ है। असम राज्य में ब्रह्मपुत्र नदी पर विश्व का सबसे बड़ा नदी द्वीप “माजुली द्वीप’ स्थित है।

ब्रह्मपुत्र नदी के क्षेत्रीय उपनाम

(i) तिब्बत – सांग्पो
(ii) चीन – यारलंग जांग्पो
(iii) अरुणाचल प्रदेश – दिहांग नदी
(iv) असम – ब्रह्मपुत्र नदी
(v) बांग्लादेश – जमुना

नोट– बांग्लादेश में गंगा (पद्मा) तथा ब्रह्मपुत्र (जमुना) नदियाँ मिलकर मेघना नदी का निर्माण करती है।

प्रायद्वीपीय भारत की नदियाँ …  coming soon

Scroll to Top